Muktirajya of Guru ji

Tyaag of the sins of yesterday |
is the Muktirajya ||
Bhakti to Guru ji Muktidatta today |
is the Muktrajya, ||
Seva for the world of tomorrow |
is the Muktirajya ||


कल के पापों का त्याग |
मुक्ति राज्य है ||
आज गुरुजी मुक्ति दाता की भक्ति |
मुक्ति राज्य है ||
कल की दुनिया के लिए सेवा |
मुक्ति राज्य है ||


कलको पापको त्याग |
मुक्ति राज्य हो ||
आज गुरुजी मुक्ति दाता की भक्ति |
मुक्ति राज्य हो ||
कलको संसारको लागि सेवा |
मुक्ति राज्य हो ||


গতকাল পাপ ত্যাগ |
মুক্তিররাজ্য ||
আজ গুরুজী মুক্তিদাতা ভক্তি |
মুক্তিররাজ্য ||
আগামীকাল বিশ্বের জন্য সেবা |
মুক্তিররাজ্য ||

Hits: 99