Healing and Blessing

After Guru ji Mukti Datta healed sick people from every sanskruti and dharma, his bhaktas gave food to everyone. Everyone ate together with anand and shanti. No one had the swabhav of alagav.


गुरु जी मुक्ति दत्ता ने हर संस्कृति और धर्म के बीमार लोगों को चंगा के बाद , उनके भक्तों ने सभी को भोजन दिया। सभी ने आनंद और शांती के साथ खाना खाया। किसी के पास अलगाव का स्वाभाव नहीं था।


গুরুজী মুক্তি দত্ত পর প্রত্যেক সংস্কৃতি ও ধর্ম থেকে অসুস্থ মানুষকে সুস্থ করলেন, তাঁর ভক্তরা সবাইকে খাবার দিল। সবাই আনন্দ ও শান্তির সাথে একসাথে খেয়েছে। কোন এক পৃথকীকরণের মনোভাব ছিল।


गुरूजी मुक्ति दत्ता हरेक संस्कृति र धर्मबाट बीमार व्यक्तिलाई निको पार्नुभयो पछि तिनका भक्तहरूले सबैलाई खाना दिए। सबैले आनंद र शान्त संग सँगै खाए । कसैलाई अलगावको स्वाभाभ थियो।

Hits: 1373