Guru ji is the vijeta over this world

The bhaktas of Guru ji Muktidatta suffer dukh |
because this world hates his Rajya of Mukti ||
Shanti ho, brothers and sisters |
He is the vijeta over this world ||


गुरु जी मुक्ति दाता के भक्तों को दुःख का अनुभव होता है |
क्योंकि यह दुनिया अपने मुक्ति के राज्य से नफरत करती है ||
शांति हो, भाइयों और बहनों |
मैं इस दुनिया में विजीता हूं ||


गुरुजी मुक्तिदाताको भक्तहरू दुखाइको अनुभव छ |
किनभने यो संसार उनको राज्य मुक्तिलाई घृणा गर्दछ ||
शान्ता हो, भाइहरू र बहिनीहरू |
म यस संसारमा विजय हुँ ||


গুরু মুক্তি দত্তের ভক্তরা দুখের অভিজ্ঞতা আছে |
কারণ এই পৃথিবী তার মুক্তির রাজ্য ঘৃণা করে ||
শান্তি, ভাই ও বোন |
আমি এই পৃথিবীতে বিজয়ী ||

Hits: 236

Guru ji’s adhikar gives asha to manavta

Guru ji Muktidatta Abhishikta has param adhikar over every roop of adhikaar, sataa and prabhutva. His param adhikar gives manavta asha for vyakti, parivar and samaaj parivartan in this yuga and vada of puri mukti in the yuga to come.


गुरु जी मुक्तिदत्त अभिषेक का हर प्रकार के अधिकार, सत्व और प्रभुत्व पर परम अधिकार है । उनका परम अधिकार इस युग में व्यक्ति, परिवार और समाज परिवर्तन के लिए मानव आशा देता है और आने वाले युग में पुरी मुक्ती का वादा करता है।


गुरु जी मुक्तिदत्त अभिषेकको सबै प्रकारका अधिकार, शक्ति र प्रभुत्वमाथि अन्तिम अधिकार छ। उहाँको अन्तिम अधिकार व्यक्ति, परिवार र समाज परिवर्तन मानिसजातिलाई आशा दिनुहुन्छ र आउँदै गरेको उमेरमा मुक्तिको लागि प्रतिज्ञाको लागि यो उमेरमा मानव आशा दिन्छ।


গুরুজী মুক্তিদাতা অভিষেক সব ধরনের অধিকার, ক্ষমতা ও কর্তৃত্বের উপর সম্পূর্ণ পরিবার রয়েছে। তাঁর চূড়ান্ত কর্তৃত্ব এই যুগে মানুষের, পরিবার ও সমাজের পরিবর্তনের জন্য এবং আসন্ন যুগে মুক্তি পাওয়ার প্রতিশ্রুতি দেয়।

Hits: 189